Coronavirus लॉकडाउन: कर्फ्यू पास कैसे लें? जानिये धारा 144 और कर्फ्यू में अंतर

कोरोना वायरस महामारी के कारण दिल्ली पूरी तरह से बंद है. दिल्ली पुलिस मुख्यालय से जारी आदेश में कहा गया है कि दिल्ली में निजी संस्थानों में काम करने वाले लोगों को कर्फ्यू पास लेने की आवश्यकता होगी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के मामले 23 मार्च 2020 को बढ़कर 433 हो गए और देश के विभिन्न हिस्सों में नये मामले सामने आए हैं. महाराष्ट्र और पंजाब की सरकार ने 23 मार्च 2020 को राज्यव्यापी कर्फ्यू लागू कर दिया वहीं भारत के अधिकतर हिस्सों में लॉकडाउन हो गया है.

कोरोना वायरस महामारी के कारण दिल्ली पूरी तरह से बंद है. दिल्ली के पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने तत्काल प्रभाव से दिल्ली में धारा 144 का सख्ती से पालन करने के लिए नए आदेश जारी किए. दिल्ली पुलिस मुख्यालय से जारी आदेश में कहा गया है कि दिल्ली में निजी संस्थानों में काम करने वाले लोगों को कर्फ्यू पास लेने की आवश्यकता होगी. नजदीकी डीसीपी कार्यालय कर्फ्यू पास जारी करेगा.

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली में लॉकडाउन का घोषणा करते हुए कहा कि इस समय कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में डर बना हुआ है. इसके अलावा, एनसीआर (गुरुग्राम, फरीदाबाद, गाजियाबाद, नोएडा) से प्रवेश करने वाले लोगों को कर्फ्यू पास लेने के लिए नजदीकी डीसीपी कार्यालय से संपर्क कर सकते है.

कर्फ्यू पास क्यों?

दिल्ली सरकार ने दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा पहले ही कर दी थी लेकिन लोग आदेशों का उल्लंघन कर रहे थे. दिल्ली सरकार ने कहा कि दिल्ली में 23 मार्च से 31 मार्च तक लॉकडाउन रहेगा जिसके तहत प्राइवेट बसें, टैक्सी और ऑटो रिक्शा सहित सारे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद रहेंगे. लेकिन, लोग आवश्यक सेवाओं और जरूरतों के नाम पर सड़कों पर आ रहे थे. अब दिल्ली पुलिस ने ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए और दिल्ली में धारा 144 लागू करने की घोषणा की है.

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि जो सरकारी अधिकारी जरूरी सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने में लगे हैं उन्हें पास जारी किया जाएगा. वे इसके आधार पर मूवमेंट कर सकेंगे. दिल्ली पुलिस का कहना है कि राजधानी में जो लोग आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की सप्लाई में लगे हैं उन्हें दिल्ली पुलिस कर्फ्यू पास जारी करेगी. कर्फ्यू पास सरकारी प्राधिकरण द्वारा जारी किया गया एक दस्तावेज है.

कर्फ्यू पास कहां मिलेगा

दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान काम करने वाले लोगों के लिए कर्फ्यू पास जारी किया जाएगा. हालांकि कर्फ्यू पास के इस नियम से मीडिया और सरकारी कर्मचारियों को राहत रहेगी. दिल्ली पुलिस की ओर से वाहनों और लोगों के आवागमन को पूरी तरह से नियंत्रित किया जाएगा. आवश्यक कार्य और जरूरी सामान से जुड़ी सेवाओं को जारी रखने के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा कर्फ्यू पास जारी किए जाएंगे. दिल्ली पुलिस उपायुक्त वास्तविक जरूरतों का आंकलन करके पास जारी करेंगे.

क्या है धारा 144?

दिल्ली पुलिस आयुक्त एस.एन. श्रीवास्तव ने कहा कि हमने दिल्ली में धारा -144 लागू कर दी है. उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग इस आदेश का पालन नहीं करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. शांति बनाए रखने और किसी भी आपात स्थिति से बचने के लिए धारा 144 लगाई गयी है.

धारा 144 और कर्फ्यू में अंतर

धारा 144 और कर्फ्यू एक चीज नहीं है. कर्फ्यू बहुत ही खराब हालत में लगाया जाता है. उस स्थिति में लोगों को एक खास समय या अवधि तक अपने घरों के अंदर रहने का आदेश दिया जाता है. मार्केट, स्कूल, कॉलेज आदि को बंद करने का आदेश दिया जाता है. केवल आवश्यक सेवाओं को ही चालू रखने की अनुमति दी जाती है. इस दौरान ट्रैफिक पर भी पूरी तरह से पाबंदी रहती है.

किसी भी क्षेत्र या शहर में दंगा, लूटपाट, आगजनी या शहर के हालात बिगड़ने के कारण धारा 144 लगाई जाती है. धारा 144 अधिकारियों को इंटरनेट का उपयोग करने पर रोक लगाने का भी अधिकार देती है. धारा 144 जहां लगती है, उस इलाके में पांच या उससे ज्यादा आदमी एक साथ जमा नहीं हो सकते हैं. धारा लागू करने के लिए इलाके के जिलाधिकारी द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है. धारा 144 लागू होने के बाद इंटरनेट सेवाओं को भी आम पहुंच से ठप किया जा सकता है.

दूसरी तरफ कर्फ्यू के आदेश, किसी भी स्थान या शहर ‌के हालात ज्यादा बिगड़ने पर दिए जाते हैं. इसमें लोगों को एक विशेष समय या अवधि के लिए घर में ही रहना होता है. ऐसा माना जाता है कि यह किसी भी प्रकार की हिंसक स्थिति को संभालने में काफी मददगार साबित हो सकता है. कर्फ्यू का आदेश आम जनता के लिए हो सकता है. इसमें केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति होती है, जैसे रोज मर्रा की जरूरतों के लिए कुछ समय तक बाजार का खुलना आदि है.

You may also like...

Leave a Reply