चुनाव आयोग ने टाला राज्यसभा चुनाव, 26 मार्च को होना था मतदान

चुनाव आयोग का कहना है कि अभी हालात ठीक नहीं हैं. यदि ऐसे में चुनाव होता है तो मतदान एजेंट से लेकर वोटरों का जमावड़ा लगेगा, जो कि गलत है. अभी हर जगह लोगों को इकट्ठा होने से रोका जा रहा है. ऐसे में चुनाव को टाला जाता है.

चुनाव आयोग ने 24 मार्च 2020 को बैठक के बाद राज्यसभा चुनाव मतदान को टालने का फैसला किया. चुनाव आयोग ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण राज्यसभा चुनाव को टाल दिया है. राज्यसभा की 55 सीटों के लिए 26 मार्च 2020 को चुनाव होने थे.

चुनाव आयोग का कहना है कि अभी हालात ठीक नहीं हैं. यदि ऐसे में चुनाव होता है तो मतदान एजेंट से लेकर वोटरों का जमावड़ा लगेगा, जो कि गलत है. अभी हर जगह लोगों को इकट्ठा होने से रोका जा रहा है. ऐसे में चुनाव को टाला जाता है.

नई तारीखों का घोषणा

आयोग की तरफ से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक इन सीटों पर मतदान के लिए नई तारीखों का घोषणा बाद में किया जाएगा. आयोग की तरफ से कहा गया है कि उसके द्वारा यह फैसला जनप्रतिनिधित्व अधिकार अधिनियम 1951 की धारा 153 के अंतर्गत लिया गया है.

मतदान 18 सीटों पर होना है

राज्य सभा के लिए 17 राज्यों की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान होना था, लेकिन 18 मार्च को नाम वापस लेने के लिए निर्धारित समय-सीमा के बाद 37 उम्मीदवार निर्विरोध चुन लिए गए. अब 18 सीटों पर ही मतदान की आवश्यकता है. इसमें गुजरात और आंध्र प्रदेश में चार-चार, राजस्थान और मध्य प्रदेश में तीन-तीन, झारखंड में दो और मणिपुर व मेघालय की एक-एक सीट शामिल है.

37 निर्विरोध निर्वाचित

राज्यसभा चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार, केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले एवं राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह समेत 37 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हुए थे.

इन राज्यों में होंगे चुनाव

राज्यसभा के लिए 17 राज्यों की 55 सीटों पर चुनाव होना था. इनमें महाराष्ट्र (7), ओडिशा (4), तमिलनाडु (6) और पश्चिम बंगाल (5) की सीटें दो अप्रैल को खाली हो रही हैं. इसके अतिरिक्त आंध्र प्रदेश (4), तेलंगाना (2), असम (3), बिहार (5), छत्तीसगढ़ (2), गुजरात (4), हरियाणा (2), हिमाचल प्रदेश (1), झारखंड (2), मध्य प्रदेश (3), मणिपुर (1) और राजस्थान (3) की सीटें 9 अप्रैल को खाली हो रही हैं. इसके अतिरिक्त मेघालय की एक सीट 12 अप्रैल को खाली हो रही है.

पृष्ठभूमि

भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई ने हाल ही में राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली. गौरतलब है कि पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को हाल ही में राष्ट्रपति ने राज्यसभा के लिए मनोनीत किया था. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कोरोनो वायरस के मामले अब तक देश में 500 के पार पहुँच चुके हैं.

You may also like...

Leave a Reply